Importance of Goals in Hindi Language

ज़िन्दगी में लक्ष्य का क्या रोल है? और लक्ष्य का होना क्यों जरूरी होता है ? नमस्कार मित्रो मेरा नाम भास्कर जोशी है और में इस साइट का एडमिन हूँ । आज हम इसी बात के ऊपर बात करेंगे की ज़िन्दगी में लक्ष्य का क्या रोल है । दोस्तों अगर आप से अभी ये पूछा जाये की आप ने  क्या कोई लक्ष्य तय किया है इस लाइफ में तो आप का उत्तर दो तरह से हो सकता है एक तो हाँ और दूसरा नहीं । अगर आप ने कोई लक्ष्य को तय किया है तो ये बहुत ही अच्छी बात होगी लेकिन अगर आप ने कोई भी लक्ष्य को तय नहीं किया है तो ये थोड़ी चिंन्ता की बात है ।

इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग रहते है जिनको ये तक नहीं पता होता है की लक्ष्य क्यों जरूरी है लाइफ में  और वो ज़िन्दगी को ऐसे ही जी लेते है बिना किसी लक्ष्य के । दोस्तों अगर आप की कल सुबह की रेल होगी तो आप इस रात में जल्दी सोयेंगे और फिर कल जल्दी से उठेंगे । ये आप का एक छोटा सा लक्ष्य भी है और आप का इरादा भी ।

Importance of Goals in Hindi Language

लक्ष्य होता क्या है?

लक्ष्य एक ऐसा काम होता है जिसमें हम उस काम को पूरा करने की कोशिस करते है । उदहारण के लिए- किसी भी एक स्टूडेंट के लिए 80-90 % नंबर्स को लाना एक लक्ष्य है, किसी भी खिलाडी के लिए सबसे अच्छा प्रदर्शन करना लक्ष्य है, किसी भी दुकानदार को अच्छा सामन को अपनी दुकान में रखना और बेचना लक्ष्य है, एक नए ब्लोग्गेर्स को अच्छा ट्रैफिक को पाना एक लक्ष्य है । इन उदाहरण से आप ज़िन्दगी  में लक्ष्य का अहम् को अच्छे से समझ गए होंगे ।

लक्ष्य हमारी ज़िन्दगी में क्या काम करता है इसको हम अच्छे से समझते है ।

  1. सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए – दोस्तों अगर आप ने कोई लक्ष्य को तय कर लिया है तो आप उसी दिशा में आगे बढ़ेंगे । जैसे मान लेते है की आप को अपने किसी दोस्त के घर जाना है लेकिन आप को सही रास्ता नहीं मालूम तो इस स्थिति में आप रास्ता भटकेंगे और आप का समय भी बर्बाद होगा । लेकिन अगर आप को सही रास्ता मालूम है तो आप बिना रास्ता भटके सही जगह पर पहुँच जायेंगे  और आप का समय भी बर्बाद नहीं होगा । लक्ष्य किसी भी इंसान को सही दिशा में आगे बढ़ने की प्ररेणा देता है । लक्ष्य आप को ये बताता है की आप के लिए कौन सा काम सही है और कौन सा नहीं ।
  2. लक्ष्य बचाये समय – अगर आप ने कोई भी लक्ष्य का चुनाव कर लिया है तो इस से आप का बहुत सा समय बच जाता है । मान लेतै है की आप के पास बहुत सी किताबे है लेकिन आप को ये नहीं पता की कौन सी अभी पढ़नी चाइए और कौन सी बाद में । इस परिस्थिति में अगर आप ने कोई भी किताब को पड़ने का लक्ष्य बनाया है तो आप सिर्फ उसी को ही पड़ेंगे बाकी को नहीं जिससे आप का बहुत सा समय बच जायेगा । दोस्तों इस बात पर भी ध्यान दे की सभी इंसानो के पास समय लिमिट होती है अगर आप ने कोई भी लक्ष्य को नहीं बनाया है तो आप अपनी पूरी ज़िन्दगी को ऐसे ही बिता देंगे ।
  3. सफलता हासिल करने के लिए लक्ष्य – अगर आप को अपनी ज़िन्दगी में सफल होना है तो आप को एक लक्ष्य को बनाना होगा । एक उदाहरण लेते है मान लेते है की आप को रेस में हिस्सा लेना है । अगर आप का लक्ष्य उस रेस को जितना है तो आप उसकी तैयारी करोगे और अपना अच्छा प्रदर्सन करने की कोशिस करोगे । लेकिन आप का कोई लक्ष्य ही नहीं होगा तो शायद आप उस रेस में भाग ही न ले । इसीलिए अगर आप को सफल होना है तो एक लक्ष्य को बनाये ।

दोस्तों ऐसा नहीं है की आप किसी एक उम्र तक ही लक्ष्य को बनाये आप कभी भी और कही भी अपने लक्ष्य को बना सकते हो पर आप का माइंड उसी और होना चाइये ।

फ्रेंड्स आप को ये आर्टिकल कैसे लगा हमे कमेंट करके जरूर बताना, अगर आप को ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड्स के साथ सोशल मीडिया में शेयर जरूर करना ! अगर आप ने हमारी वेबसाइट को अभी तक सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी सब्सक्राइब करे !

 

Leave a Reply