How To Contol Mind Part -1 Hindi

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आज हम आप को बताएँगे की कैसे अपने माइंड  को कण्ट्रोल करे या अपने दिमाग को कैसे अपने वस में करे । दोस्तों कभी कभी हमारा दिमाग कुछ सही फैसला नहीं ले पाता या हम कुछ भी फैसला  नहीं ले पाते ऐसा क्यों होता है ?

दोस्तों हमारे पास दो तरह के माइंड होते है एक होता है चेतन मन और दूसरा अवचेतन मन या दूसरी  भाषा में कहे तो जागृत मन और अजागृत मन । ये दोनों आखिर करते क्या है ? बहुत विचार करने के बाद हम आप के सामने अपने विचार रखने जा रहे है आप हम से सहमत भी हो सकते हो और नहीं भी ।

how to control mind

बात करते है चेतन मन की

दोस्तों चेतन मन हमारे विचार और सोच को एक दम से स्टडी या पढ़ लेता है । क्योंकि ये जागृत  अवस्था में होता है और कुछ भी सोच समझ कर जवाब दे देता है । जैसे अगर में आप से अभी ये कहू की आप मेरी इस पोस्ट को पढ़ कर हँस रहे है या रो रहे है तो आप अभी ऐसा कह देंगे की में ऐसा कुछ भी नहीं कर रहा हु । में सिर्फ इस पोस्ट से जानकारी ले रहा हु जो मुझे चाइये तो इस के लिए में क्यों हँसू या क्यों रोऔं । लेकिन आप को ये भी पता होना चाइये की चेतन मन के पास सिर्फ दस प्रतिशध ही सोचने की समता होती है । इस का मतलब ये होता है की जो भी आप सोचते हो वो सिर्फ दस प्रतिशध ही होता है या उस भी कम ।

अगर आप पढ़ाई करते है तो आप सिर्फ अपनी पढ़ाई में ही ध्यान देंगे और उसी का जवाब आप को पता भी होगा । या अगर आप नौकरी करते हो या आप का कोई भी बिज़नस हो तो आप सिर्फ उसी के बारे में जानते होंगे । ऐसा हम इसीलिए कह रहे है क्यों की ये सब कुछ आप के चेतन मन में दर्ज होगा की मुझे ऐसा ही करना है लेकिन अवचेतन मन तो कुछ और ही कहता है।

अवचेतन मन क्या कहता है 

दोस्तों आप मेरी इस बात से सहमत होंगे जब आप कुछ भी पड़ते हो तो सिर्फ आप कुछ ही समझ पाते हो और बाकी का समझ में नहीं आता । ऐसा होता नहीं है क्यों की सिर्फ दस प्रतिशध हमारे चेतन मन में जाता है और बाकी अवचेतन मन में । अवचेतन मन में नाइंटी प्रतिशध किसी भी चीज़ को एक रिकॉर्ड की तरह संभालने  समता होती है । आप ने कभी कभी ऐसा कोई भी जगह को देखा होगा और कहा होगा की में यहाँ पहले भी आया हु ।  तो क्या ऐसा होता है नहीं क्योंकि आप के अवचेतन मन नें उस जगह के लिए एक धारणा बना ली होती ही । या कभी कभी आप जब परीक्षा दे रहे होते है तभी आप को कुछ एक दम से याद आ जाता है और आप उस का उत्तर दे देते हो । ऐसा सभी के साथ ही होता है क्योंकि हमारा अवचेतन मन बहुत ही शक्तिशाली होता है ।

 

ये दोनों मन ही कुदरध की ही देन है और जो इतने  शक्तिशाली है हम उनको ही अपने काबू में करने की बात कर रहे है । कैसे अपने मन को काबू करे इस के लिए आप को ध्यान की जरुरत होती है । अपने आसपास के बारे में सोचे और उनके बारे में विचार बनाए ये नियम खुश रहे के लिए है ।

अगर आप पढ़ाई करते हो तो आप को अपनी पढ़ाई में ध्यान लगाना चाइए, नौकरी करते हो तो अपने काम में, बिज़नस करते हो तो अपने बिज़नस में । लेकिन जब भी ध्यान लगाए तो उनके बारे में विचार बनाते रहे की मैं ऐसा कर लूंगा । जिस दिन आप के अवचेतन मन ने आप का साथ देना सुरु कर दिया आप की लाइफ बदल जाएगी ।

फ्रेंड्स आप को ये आर्टिकल कैसे लगा हमे कमेंट करके जरूर बताना, अगर आप को ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड्स के साथ सोशल मीडिया में शेयर जरूर करना ! अगर आप ने हमारी वेबसाइट को अभी तक सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी सब्सक्राइब करे !

2 Comments

  1. bikram 29/01/2017 Reply

Leave a Reply