What Is Bounce Rate In Hindi

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आज हम आप को एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले है । क्योंकि बहुत से ब्लोग्गेर्स को मैंने देखा है जो अक्सर ये सवाल करते है की वेबसाइट ट्रैफिक को कैसे बढ़ाये, वेबसाइट से पैसे कैसे कमाए, वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में कैसे लाये आदि आदि । पर बहुत ही काम इस टॉपिक को सर्च करते होंगे की वेबसाइट बाउंस रेट क्या होती है? दोस्तों हम इसके बारे में पहले भी लिख चुके है, लेकिन समय के साथ साथ थोड़ा सा और बदलाव करना अच्छा रहता है इसलिए हम दोबारा इस पोस्ट को लिख रहे है पर कुछ नए आईडिया के साथ ।

 

बाउंस रेट क्या होती है (What is bounce rate) ?

bounce rate kya hai

जब भी आप के वेबसाइट विजिटर आप के साइट में विजिट तो करते है लेकिन आप की साइट के बाकी के पेजेज या पोस्ट  में विजिट नहीं करते है और बिना विजिट किये हुए ही साइट को बंद कर देते है तो ये बाउंस रेट कहलाती है । इसको हम ऐसे भी समझ सकते है, वेबसाइट में विजिटर तो आते है लेकिन बहुत ही जल्दी साइट को बंद कर देते है ।

दोस्तों अगर आप की वेबसाइट में भी ऐसी ही होता है तो इसका मलतलब आप की वेबसाइट का बाउंस रेट बहुत ही ज्यादा होगा ।

 

बाउंस रेट के कारण (Bounce rate reason) –

दोस्तों देखा गया है की विजिटर को अगर आप की साइट में ये चीज़े पसंद नहीं आती तो वो बहुत ही जल्दी साइट को बंद कर देता है जिसके कारण है –

  • पेज खुलने में ज्यादा समय लेना

  • वेबसाइट डिजाईन का अच्छा नहीं होना

  • वेबसाइट लैंग्वेज का गलत होना

  • सही जानकारी का ना होना

  • वेबसाइट का रेस्पोंसिव नहीं होना

दोस्तों ये कुछ कारण है जिनके कारण ही के वेबसाइट  में बाउंस रेट बहुत ज्यादा हो जाता है अगर आप इन चीज़ों में ध्यान देंगे तो आप का बाउंस रेट भी कम होगा ।

वेबसाइट बाउंस रेट कम होना  किसी भी वेबसाइट के पॉपुलर होने के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है  । क्योंकि जितना देर आप के विजिटर आप की वेबसाइट में बिताएंगे उतना ही आप का बाउंस रेट भी कम होगा और उतना ही आप की वेबसाइट पॉपुलर भी  होगी ।

बाउंस रेट का पता कैसे करे?

दोस्तों आप को घबराने की जरुरत नहीं है आपको सिर्फ गूगल एनालिटिक्स में जाना है और वहां आपको अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट देखना है । जैसे मेरे इस ब्लॉग का बाउंस रेट 35 % है जो की एक अच्छी बात है ।

बाउंस रेट कितनी होनी चाइये?

दोस्तों इसका उत्तर आप की वेबसाइट में ही छुपा हुआ है, अगर आप यूजर को अच्छी जानकारी देते हो तो आप की वेबसाइट का बाउंस रेट 30%  होना चाइये । लेकिन अगर आप की वेबसाइट का बाउंस रेट 35% से ज्यादा हो लेकिन 50% तक ही हो तो आप को थोड़ा काम और करना होगा अपनी वेबसाइट में । अगर आप की वेबसाइट का बाउंस रेट 50% से ज्यादा हो तो आप को बहुत सा काम करना होगा अपनी वेबसाइट में ।

अब बात करते है की कैसे आप अपनी वेबसाइट की बाउंस रेट को कम करेंगे?

# अच्छा वेबसाइट का डिजाईन (Good Design)  :

जितना अच्छा और साफ़ आप की वेबसाइट का डिजाईन होगा उतना ही यूजर को समझ में आएगा और यूजर ज्यादा देर तक आप की वेबसाइट में रुकेगा । इसीलिए आप अपनी वेबसाइट का डिजाईन एक दम साफ़ रखे ।

# वेबसाइट कंटेंट (Website Content)  :

अपने वेबसाइट कंटेंट में सिंपल भाषा का इस्तेमाल करे, यूजर की जरुरत को अपने कंटेंट से पूरा करे । अपने कंटेंट में सब कुछ लिखे जो जो होना चाहिए ।

# वेबसाइट स्पीड (Website Speed)  :

आप अपने वेबसाइट स्पीड को कम रखे ( मतलब की खुलने में ज्यादा समय न ले वेबसाइट ) इसके लिए आप अपनी वेबसाइट में इमेज के साइज को कम कर सकते है । और इस बात का भी ध्यान रखे की आप की वेबसाइट पर क्लिक करते ही कुछ ही सेकंड में आप की वेबसाइट का पेज खुल जाये ।

# इंटर लिंक करे (Inter Link)  :

दोस्तों इस का मतलब ये होता है की आप अपने बाकी पेज के लिंक भी अपनी हर पोस्ट में डाले, क्योंकि यूजर को ये नहीं पता होता है की आप की वेबसाइट और क्या सर्विस देती है , अगर आप बाकी ले लिंक साथ में डालेंगे तो यूजर उस पेज में भी विजिट करेगा । जिससे आप को एक व्यू और मिलेगा और आप के वेबसाइट का बाउंस रेट भी कम होगा ।

# रेस्पोंसिव डिजाईन (Responsive Design)  :

आप की वेबसाइट एक रेस्पोंसिव वेबसाइट होनी चाइये, रेस्पोंसिव का मतलब ये होता है की आप की वेबसाइट का पेज हर किसी डिवाइस में खुल जाए है जैसे – मोबाइल फ़ोन, टैबलट्स, और कंप्यूटर ।

दोस्तों ये कुछ सिंपल जानकारी है जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के बाउंस रेट को कम कर सकते हो । अगर आप को ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो कृपा करके इस पोस्ट को अपने बाकी दोस्तों तक शेयर जरूर करे ।

Leave a Reply