आकर्षण के सिद्धांत के प्रति गलत अवधारणा

हेलो दोस्तों बहुत समय से हम आकर्षण के सिद्धान्त के बारे में सोच रहे थे और आज हम आप को एक पक्का उदाहरण देते है । आकर्षण के सिद्धान्त के बारे में हमने पहले भी लिखा है और आज भी हम आप को इसी सिद्धान्त के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है । दोस्तों आप इन दोनों विषयो को पढ़े आप सबसे पहले इस सिद्धान्त के बारे में जाने फिर आप इस को अपने अमल में लाये |

दोस्तों आकर्षण का मतलब किसी को भी अपनी और आकर्षित करना होता है चाए वो कुछ भी क्यों न हो । जैसे – किसी भी वस्तु की मांग करना, एक बड़ा घर मांगना, एक बड़ी गाड़ी मांगना आदि आदि ।

law of attraction

लेकिन अब इन सभी को मांगे कैसे, क्या मांगने से ही सब कुछ मिल जाता है । अगर ऐसा होता तो क्या कोई नौकरी या बिज़नस करता सोचो । आप को लग रहा होगा की हम आकर्षण के बारे में बातने जा रहे है और इसी के लिए गलत भी कह रहे है । तो दोस्तों हम यहाँ पर आप को साफ़ साफ़ बता दे की अगर आप आकर्षण के सिद्धान्त को लागू करते है और अपना काम करना ही छोड दे तो क्या ये काम करेगा । नहीं क्यों की इस नियम को करने के लिए आप को अपना काम भी करना होगा बहुत ही अच्छे से । एक उदाहरण लेते है जिस से हम जो कहना चाहते है आप समझ सके ।

मान लो की आप चुम्बक हो और आप को किसी लोहे को अपनी और आकर्षित करना है लेकिन आप दोनों की दुरी बहुत है तो क्या आप लोहे को अपनी और खींच सकते हो । नहीं क्यों की जब तक आप लोहे के पास नहीं जाते या लोहा आप के पास नहीं आता तब तक आप दोनों ही एक दूसरे की पहुँच से बाहर है । और लेकिन इस स्थिति में आप लोहे को थोड़ा बहुत ही हिला सकते हो आप खुद भी ऐसा अपने घर में कर सकते है ।

अब हम इस नियम में आते है ऊपर दिए हुए उदाहरण में आप को थोड़ा सा नियम अच्छे से समझ में आ गया होगा इसी उदाहरण को अब सच में मानते है की आप को पैसो को आकर्षित करना है ।

अब आप पैसो को आकर्षित करना चाहते हो लेकिन पैसा आप की पहुँच से दूर है, आप सोचते रहो पैसो के बारे में आप इस समय चुम्बक हो और पैसा लोहा दोनों के बीच दूरी बहुत है । अपनी सोच से आप ने पैसो को हिला दिया है थोड़ा बहुत । लेकिन क्या आप के पास पैसा आया ? नहीं आया न क्यों की आप सोच रहे हो पैसो के बारे में और आप ने एक महत्वपुर्ण काम को छोड दिया और वो है….. सोचा आप ने की वो काम क्या था । वो काम था अपना कर्म करना क्यों की आप ने ये नहीं सोचा होगा की मैं कैसे इस काम को करु की मुझे अच्छी सैलरी मिले या ऐसा कौन सा बिज़नस करु की मुझे फायदा हो ।

दोस्तों बहुत सी वीडियोस या स्टोरीज में सभी को इस नियम के बारे में बहुत कुछ बताया गया है जो गलत भी है और सही भी । लेकिन अगर आप का ध्यान  केवल   अपने कर्म के प्रति होगा तो आप निश्चिन्त ही सफल होंगे ।

दोस्तों सभी की बातो को सुनो लेकिन अपने दिल की करो । नियम काम करता है लेकिन सफलता आप के द्वारा किये गए काम से ही मिलेगी । दोस्तों मैं अगर चाहता तो इस नियम के बारे में बहुत कुछ लिख सकता था लेकिन मैंने इस नियम के बारे में वो लिखा है जिस को मैंने खुद मह्सुश किया है । आप मेरी बातो से सहमत हो भी सकते है या नहीं भी, लेकिन अगर आप मेरी बातो से सहमत होते है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक पहुँचाए और जो गलत धारणा है लोगो के मन में उस को दूर करे धन्यवाद ।

Leave a Reply